प्रिय दोस्तों! हमारा उद्देश्य आपके लिए किसी भी पाठ्य को सरलतम रूप देकर प्रस्तुत करना है, हम इसको बेहतर बनाने पर कार्य कर रहे है, हम आपके धैर्य की प्रशंसा करते है| मुक्त ज्ञानकोष, वेब स्रोतों और उन सभी पाठ्य पुस्तकों का मैं धन्यवाद देना चाहता हूँ, जहाँ से जानकारी प्राप्त कर इस लेख को लिखने में सहायता हुई है | धन्यवाद!

Tuesday, September 3, 2019

गिरिफ़्ता-दिल हैं बहुत आज तेरे दीवाने - girifta-dil hain bahut aaj tere deevaane - - नासिर काज़मी- Nasir Kazmi

गिरिफ़्ता-दिल हैं बहुत आज तेरे दीवाने 
ख़ुदा करे कोई तेरे सिवा न पहचाने 

मिटी-मिटी सी उम्मीदें थके-थके से ख़याल 
बुझे-बुझे से निगाहों में ग़म के अफ़साने 

हज़ार शुक्र के हम ने ज़ुबाँ से कुछ न कहा 
ये और बात के पूछा न अहल-ए-दुनिया ने 

बक़द्र-ए-तश्नालबी पुर्सिश-ए-वफ़ा न हुई 
छलक के रह गये तेरी नज़र के पैमाने 

ख़याल आ गया मायूस रहगुज़ारों का 
पलट के आ गये मंज़िल से तेरे दीवाने 

कहाँ है तू के तेरे इंतज़ार में ऐ दोस्त 
तमाम रात सुलगते रहे दिल के वीराने 

उम्मीद-ए-पुर्सिश-ए-ग़म किस से कीजिये "नासिर"
जो मेरे दिल पे गुज़रती है कोई क्या जाने 


- नासिर काज़मी- Nasir Kazmi


No comments:

Post a Comment

PF क्या है ? पीएफ में फॉर्म 31 क्या है? फार्म 19 क्या है? फार्म 10c क्या है?

Key Content: PF क्या है ?  पीएफ में फॉर्म 31 क्या है? फार्म 19 क्या है? फार्म 10c क्या है?  PF क्या है ईपीएफओ का पूरा नाम एम्पलाई प्रोविडेंट...