प्रिय पाठकों! हमारा उद्देश्य आपके लिए किसी भी पाठ्य को सरलतम रूप देकर प्रस्तुत करना है, हम इसको बेहतर बनाने पर कार्य कर रहे है, हम आपके धैर्य की प्रशंसा करते है| मुक्त ज्ञानकोष, वेब स्रोतों और उन सभी पाठ्य पुस्तकों का मैं धन्यवाद देना चाहता हूँ, जहाँ से जानकारी प्राप्त कर इस लेख को लिखने में सहायता हुई है | धन्यवाद!

Thursday, August 8, 2019

जो चंद लम्हों में बन गया था वो सिलसिला ख़त्म हो गया है - jo chand lamhon mein ban gaya tha vo silasila khatm ho gaya hai - -Mahshar afridi - महशर आफ़रीदी

जो चंद लम्हों में बन गया था वो सिलसिला ख़त्म हो गया है 

ये तुम ने कैसा यक़ीं दिलाया मुग़ालता ख़त्म हो गया है 

ज़बान होंटों पे जा के फीकी ही लौट आती है कुछ दिनों से 

नमक नहीं है तिरे लबों में या ज़ाइक़ा ख़त्म हो गया है 

गुमान गाँव से मैं चला था यक़ीन की मंज़िलों की जानिब 

मगर तवहहुम के जंगलों में ही रास्ता ख़त्म हो गया है 

वो गुफ़्तुगूओं के नर्म चश्मे कहीं फ़ज़ा में ही जम गए हैं 

वो सारे मैसेज वो शाइ'री का तबादला ख़त्म हो गया है 

कल एक सदमा पड़ा था हम पर के जिस ने दिल को हिला दिया था 

चलो के सीने का जाएज़ा लें कि ज़लज़ला ख़त्म हो गया है 

मिरे तसव्वुर में इतनी वुसअ'त नहीं के तेरा बदन समाए 

मैं तुझ को सोचूँ तो ऐसा लगता है हाफ़िज़ा ख़त्म हो गया है 

मैं तुझ को पा कर ही मुतमइन हूँ अब और कोई तलब नहीं है 

जो आज तक था नसीब से वो मुतालबा ख़त्म हो गया है 


-Mahshar afridi - महशर आफ़रीदी

1 comment:

How to stay healthy? स्वस्थ कैसे बने रहे ?

 How to stay healthy?   स्वस्थ कैसे बने रहे ? Key Included: Healthy Eating Regular Exercise Good Sleep Stress Management Other Healthy Habit...