प्रिय पाठकों! हमारा उद्देश्य आपके लिए किसी भी पाठ्य को सरलतम रूप देकर प्रस्तुत करना है, हम इसको बेहतर बनाने पर कार्य कर रहे है, हम आपके धैर्य की प्रशंसा करते है| मुक्त ज्ञानकोष, वेब स्रोतों और उन सभी पाठ्य पुस्तकों का मैं धन्यवाद देना चाहता हूँ, जहाँ से जानकारी प्राप्त कर इस लेख को लिखने में सहायता हुई है | धन्यवाद!

Saturday, December 17, 2022

PAN, TAN, TIN क्या है । इन सब की जरूरत हमें क्यों है ? Different between TAN, PAN and TIN | Poemgazalshayai.in

PAN, TAN, TIN क्या है । इन सब की जरूरत हमें क्यों है ? Different between TAN, PAN and TIN | Poemgazalshayai.in

पैन कार्ड क्या है? 
पैन कार्ड का पूरा नाम परमानेंट अकाउंट नंबर या स्थाई अकाउंट नंबर होता है, पैन कार्ड आपका एक अद्वितीय यूनिक पहचान पत्र होता है, पैन कार्ड को आयकर विभाग द्वारा जारी किया जाता है, आप पैन कार्ड को सिर्फ एक बार ही बन सकता है, यदि आपका पैन कार्ड खो जाए तो आप फार्म भर कर उसे रिप्रिंट करा सकते हैं।

पैन कार्ड की आवश्यकता हमें क्यों है?
यह किसी भी तरह के फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन में जरूरी माना जाता है, PAN कार्ड हर नौकरी पेशा लोगों की जरूरत है इसका उपयोग हमारे ट्रांजैक्शन की निगरानी करने के लिए किया जाता है आपके पैन कार्ड से आपका पीएफ अकाउंट नंबर आपका बैंक नंबर सभी लिंक का होते हैं, जिससे आप की गतिविधि की निगरानी आयकर विभाग करती रहती है आपके सभी ट्रांसलेशन के डिटेल पैन कार्ड की हिस्ट्री देखकर आयकर विभाग से कर लिया जाता है वहां के अधिकारी देख लेते हैं।

पैन कार्ड आपके सभी फाइनेंसियल अकाउंट से लिंक होता है जैसे -
बैंक अकाउंट
एलआईसी अकाउंट 
फाइनेंस अकाउंट
लोन अकाउंट
सैलेरी अकाउंट
पीएफ अकाउंट
इनकम टैक्स रिटर्न
डिमैट अकाउंट
आदि सभी बैंक अकाउंट की डिटेल्स ट्रांजैक्शन डिटेल आपके पैन कार्ड से देखा जा सकता है।

पैन कार्ड का मुख्य कार्य क्या है?
पैन कार्ड का मुख्य कार्य आपके ट्रांजैक्शन और आपके बैंक हाथ की निगरानी करना है, जिससे आयकर विभाग को जीएसटी कैलकुलेटर करने में आसानी होती है।

क्या हम बिना पैन कार्ड की सैलरी अकाउंट खोल सकते हैं?
आप बिना पैन कार्ड के भी सेविंग अकाउंट खोल सकते हैं या बैंक अकाउंट खोल सकते हैं, लेकिन उस अकाउंट में आपके ट्रांजैक्शन की कुछ लिमिट रहती है। आप बिना पैन कार्ड के कोई बड़ा ट्रांजैक्शन नहीं कर सकते हैं। आप उसे अकाउंट में पैन कार्ड ऐड करने के बाद ही बड़ा ट्रांजैक्शन कर सकते हैं।

बिना पैन कार्ड के अकाउंट में आपकी स्कूल का अकाउंट नंबर या स्कॉलरशिप अकाउंट नंबर आप कह सकते हैं, आपको याद होगा जब हम कक्षा नाइंथ में थे तभी हमारा बैंक अकाउंट था जिसमें हमारी छात्रवृत्ति आती थी और उस समय हमारा पैन कार्ड नहीं बना था।

पैन कार्ड अप्लाई करने की एज उम्र क्या है?
पैन कार्ड अप्लाई करने की आयु 18 साल की रखी गई है, आप 18 साल की उम्र के बाद पन कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं?

पैन कार्ड अप्लाई करने के जरूरी दस्तावेज क्या है?
पैन कार्ड अप्लाई करने के लिए निम्नलिखित दस्तावेज की जरूरत होती है जिसमें आपका -

address proof
identity proof
two passport size photograph
 
एड्रेस पहचान पत्र में हम कौन कौन से डॉक्यूमेंट दे सकते हैं? -
राशन कार्ड
ड्राइविंग लाइसेंस
आधार कार्ड
मतदाता पहचान पत्र
नरेगा कार्ड
बैंक पासबुक
आज कई प्रकार के डॉक्यूमेंट आप दे सकते हैं l

आइडेंटिटी प्रूफ मैं आप क्या-क्या डॉक्यूमेंट दे सकते हैं?-
आधार कार्ड
ड्राइविंग लाइसेंस
हाई स्कूल मार्कशीट
आदि डॉक्यूमेंट अपनी पहचान के लिए दे सकते हैं l

पैन कार्ड अप्लाई कैसे करें, पैन कार्ड आवेदन का तरीका क्या है?
पैन कार्ड का आवेदन आप दो प्रकार से कर सकते हैं
ऑफलाइन माध्यम
ऑनलाइन माध्यम

ऑफलाइन माध्यम से आप पैन कार्ड कैसे अप्लाई करें?
इसके लिए आपको अपनी नजदीकी पैन कार्ड ऑथराइज सेंटर पर जाना रहेगा, वहां आपको 49a फार्म भर कर अपने डॉक्यूमेंट को अटैच करके ऐड्रेस प्रूफ और आईडेंटिटी प्रूफ अटैच करने के बाद फार्म में आपको दो जगह फोटोग्राफ लगाने होते हैं और फार्ममें आपको तीन जगह सिग्नेचर करने होते हैं
पहले फोटोग्राफ पर आपको ब्लैक पेंसिल तिरछी सिग्नेचर करना होता है, और बाकी दो सिग्नेचर दिए गए बॉक्स में करना होता है ध्यान रहे आपका सिग्नेचर आपके पैन कार्ड पर प्रिंट होकर आता है इसलिए आप अपना सही सिग्नेचर करें।
उसके बाद आपको पैन कार्ड की प्रोसेसिंग फी देकर फार्म को जमा कर दीजिए उसके बाद रसीद ले लीजिए।
आवेदन के 10 से 15 दिन के अंदर आपका पैन कार्ड आपके कम्युनिकेशन ऐड्रेस पर आ जाएगा l

ऑनलाइन मोड से पैन कार्ड अप्लाई कैसे करें? मात्र 24 घंटे में पैन कार्ड नंबर कैसे प्राप्त करें?
सबसे तेज पैन कार्ड नंबर प्राप्त करने का ऑनलाइन आवेदन एक अच्छा माध्यम है, इससे आप 24 घंटे के भीतर पैन कार्ड नंबर प्राप्त कर सकते हैं अप्लाई करने के 24 से 48 घंटे के अंदर आपके रजिस्टर ईमेल आईडी और मोबाइल नंबर पर आपका पैन कार्ड नंबर भेजा जाता है या मिल जाता है।

पैन कार्ड ऑनलाइन आवेदन करने के लिए जरूरी दस्तावेज क्या है?
पैन कार्ड ऑनलाइन आवेदन करने के लिए सिर्फ आपकी आधार कार्ड की जरूरत पड़ती है और आपकी आधार कार्ड में आपका रजिस्टर मोबाइल नंबर लिंक होना अनिवार्य है।
आप अपना आधार कार्ड और मोबाइल नंबर पास में लेकर एनएसडीएल की वेबसाइट पर जाना रहता है।
वहां पर आपको दो ऑप्शन मिलेंगे पहला रजिस्ट्रेशन दूसरा लॉगइन सबसे पहले आपको रजिस्ट्रेशन पर जाना रहेगा वहां आपको 49a फॉर्म सिलक्ट करना रहेगा उसके बाद
 अपना नाम, डेट ऑफ बर्थ, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी ,इंटर करने के बाद कैप्चा कोड डालकर सबमिट कर दीजिए आप का रजिस्ट्रेशन हो जाएगा। और एक टोकन नंबर जनरेट होगा फिर उसी टोकन आईडी से आपको लॉगइन करना रहेगा कुछ स्टेप पूरा करने के बाद आपका पैन कार्ड एप्लीकेशन पूरा हो जाएगा l application सबमिट करने से पहले आपसे ao कोड और ए डब्ल्यू कोड पूछा जाता है, यह आपको एनएसडीएल की ऑफिशियल वेबसाइट पर या उसी वेबसाइट पर मिल जाएगी जहां आप पहले प्रदेश फिर जिला सिलेक्ट करते ही आपको अपने एरिया का AO कोड दिख जाएगा।

सभी स्टेप कंप्लीट करने के बाद आपको ऑथेंटिकेशन पर क्लिक करना रहेगा, जहां पर आपको अपना आधार नंबर ऑनलाइन वेरीफाई करना रहेगा आपके आधार लिंक खाते पर एसएमएस कोड जाता है इसे इंटर करके फॉर्म सबमिट कर दीजिए आपका पैन कार्ड 24 घंटे के अंदर आपकी मेल आईडी पर आ जाता है यदि आपको बहुत इमरजेंसी है तो वेबसाइट पर जाकर डाउनलोड कर लीजिए नहीं तो वेट कीजिए 10 से 15 दिन में या 1 हफ्ते में डाक द्वारा आपको मिल जाता है।

पैन कार्ड ऑनलाइन और पैन कार्ड ऑफलाइन दोनों में क्या अंतर है?
पैन कार्ड ऑफलाइन अंतर -
इसमें आपका चार्ज कम लगता है।
पैन कार्ड में आपका सिग्नेचर प्रिंट रहता है।
इसको आने में 10 से 15 दिन लग सकता है।
इसमें आप ऐड्रेस प्रूफ, आईडेंटिटी प्रूफ और दो फोटोग्राफ देकर आवेदन कर सकते हैं।
आप अपनी पहचान के लिए कक्षा 10 की मार्कशीट भी दे सकते हैं।
ऑफलाइन अप्लाई सिर्फ पैन कार्ड ऑथराइज्ड सेंटर द्वारा ही हो सकता है।

ऑनलाइन पैन कार्ड आवेदन में क्या अंतर है?
इसमें आपको फार्म भरने की जरूरत नहीं पड़ती।
आपकी आधार कार्ड में आपका रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर ऐड होना चाहिए।
इसमें सिर्फ आधार कार्ड की जरूरत पड़ती है।
इसमें आपका सिग्नेचर नहीं आता।
इसमें आपकी फोटो आधार कार्ड वाली ही आती है।
इसमें आपको फार्म भरने के लिए किसी कॉपी पिन और फार्म की जरूरत नहीं पड़ती।
इसमें आप घर बैठे ही आवेदन कर सकते हैं किसी भी सर्विस अथवा इस सेंटर पर जाने की जरूरत नहीं है।

पैन कार्ड के कितने सर्विस प्रोवाइडर हैं?
पैन कार्ड के मुख्यतः दो सर्विस प्रोवाइडर हैं।
UTIITSL
NSDL

इन दोनों सर्विस प्रोवाइडर के बहुत से ब्रांच सिया सेंटर मिल जाते हैं जहां से आपको पैन कार्ड की सुविधा मिलती है।

Pan Card, Tan Card और Tin में क्या अंतर है?

Pan Card:-
इसको आवेदन करने के लिए 49a फॉर्म भरना होता है।
इसका पूरा नाम स्थाई अकाउंट नंबर या परमानेंट अकाउंट नंबर होता है।
पैन कार्ड स्टूडेंट या नौकरीपेशा लोगों के लिए बहुत जरूरी होता है।
पैन कार्ड में पूरे 10 अक्षर तथा अंक होते हैं।
पैन कार्ड का पांचवा अक्षर आपके लास्ट नेम का पहला अक्षर होता है।
इससे कार्ड धारक के ट्रांजैक्शन को तथा अकाउंट को सरकार नजर रहती है।

Tan Number :-
Tan का पूरा नाम टैक्स डिडक्शन एंड कलेक्शन अकाउंट नंबर होता है।
इसका उपयोग टीसीएस और टीडीएस की निगरानी के लिए किया जाता है।
TDS भुगतान के लिए इसकी जरूरत पड़ती है।
इसको आवेदन करने के लिए 49b फार्म भरना होता है।

Tin number:-
TIN का पूरा नाम टैक्स आईडेंटिफिकेशन नंबर होता है।
इसका उपयोग इंटरनेशनल अंतरराष्ट्रीय लेन-देन या व्यापार के लिए होता है।
टिन नंबर कंपनी के मालिक को दिया जाता है।
इसमें 11 अंक होते हैं जिसके शुरुआती 2 अंक आपके राज्य को प्रदर्शित करते हैं।
गृह मंत्रालय ने अंतरराष्ट्रीय व्यापार के लिए या लेनदेन के लिए टिन नंबर को अनिवार्य कर दिया है।

मुक्त ज्ञानकोष, वेब स्रोतों और उन सभी पाठ्य पुस्तकों का मैं धन्यवाद देना चाहता हूँ, जहाँ से जानकारी प्राप्त कर इस लेख को लिखने में सहायता हुई है |
हमारे इस पोस्ट को पढ़ने के लिए हम आपका आभार व्यक्त करते है | इस जानकारी को ज्यादा से ज्यादा Facebook, Whatsapp जैसे सोशल मिडिया पर जरूर शेयर करें | धन्यवाद !!!
www.poemgazalshayari.in
लेख@अंबिका राही 

No comments:

Post a Comment