प्रिय पाठकों! हमारा उद्देश्य आपके लिए किसी भी पाठ्य को सरलतम रूप देकर प्रस्तुत करना है, हम इसको बेहतर बनाने पर कार्य कर रहे है, हम आपके धैर्य की प्रशंसा करते है| मुक्त ज्ञानकोष, वेब स्रोतों और उन सभी पाठ्य पुस्तकों का मैं धन्यवाद देना चाहता हूँ, जहाँ से जानकारी प्राप्त कर इस लेख को लिखने में सहायता हुई है | धन्यवाद!

Tuesday, January 5, 2021

फणीश्‍वरनाथ रेणु जीवन परिचय | Phanishwar Nath Renu HindiBiography

 फणीश्‍वरनाथ रेणु जीवन परिचय | Phanishwar Nath Renu HindiBiography


फणीश्‍वर नाथ रेणु का जन्म 4 मार्च 1921 को औराडी हिंगन्ना, फारविसगंज  जिला पूर्णियां, बिहार में हुआ। आप के शिक्षा भारत और  नेपाल में हुई |  आप एक हिंदी भाषा के साहित्यकार है |

आप का बिहार के कटिहार से गहरा सम्बन्ध रहा है | आपकी पत्नी का नाम रेखा रेणु था जिनका मायका कटिहार के महमदिया ग्राम में था | 

आप की दो पुत्रियों के नाम कविता राय और वहीदा राय इन दोनों की शादी मह्मदिया के कवैया ग्राम में हुई |

आपने इंटर की शिक्षा काशी हिंदी विश्वविद्यालय से पूरी होने के बाद  ,  1942 के भारत-छोड़ो आंन्दोलन में कूद पड़े । 1950 में नेपाली दमनकारी रणसत्ता के विरूद्ध सशस्त्र क्रांति के सूत्रधार रहे ।

1954 में 'मैला आँचल' उपन्यास प्रकाशित हुआ जिसमें आपको बहुत  प्रतिष्ठा मिली।

देहांत: 11 अप्रैल, 1977 को पटना में अंतिम सांस ली।

साहित्य सृजन:

कहानी संग्रह: ठुमरी १९५९ , अग्निख़ोर१९७३ , आदिम रात्रि की महक१९६७ , एक श्रावणी दोपहरी की धूप १९८४ , अच्छे आदमी १९८६ ।

उपन्यास: आपके उपन्यास क्रमवार कुछ इस प्रकार है मैला आंचल १९५४, परती परिकथा १९५७,जुलुस, दीर्घतपा १९६४, कितने चौराहे १९६६, कलंक मुक्ति १९७२, पलटू बाबु रोड १९७९ ।

संस्मरण: ऋणजल--धनजल, वन तुलसी की गन्ध, श्रुत अश्रुत पूर्व।

प्रसिद्ध कहानिया: मारे गए गुलफाम (तीसरी कसम), एक आदिम रात्रि की महक, लाल पान की बेगम, पंच लाइट, तबे एकला चलो रे, ठेस , संवदिया आपके तीसरी कसम उपन्यास पर फिल्म भी बन चुकी है जिसमें राजकपूर और वहीदा रहमान मुख्य किरदार थे |


मुक्त ज्ञानकोष, वेब स्रोतों और उन सभी पाठ्य पुस्तकों का मैं धन्यवाद देना चाहता हूँ, जहाँ से जानकारी प्राप्त कर इस लेख को लिखने में सहायता हुई है | 

हमारे इस पोस्ट को पढ़ने के लिए हम आपका आभार व्यक्त करते है | इस जानकारी को ज्यादा से ज्यादा Facebook, Whatsapp जैसे सोशल मिडिया पर जरूर शेयर करें | धन्यवाद  !!!


https://poemgazalshayari.in

No comments:

Post a Comment

स्कालरशिप ऑनलाइन में क्या दस्तावेज लगते है | Apply Scholorship Form | वजीफा ऑनलाइन | How to Apply scholorship | poemgazalshayari

स्कालरशिप ऑनलाइन में क्या दस्तावेज लगते है | Apply Scholorship Form | वजीफा ऑनलाइन | How to Apply scholorship | poemgazalshayari  यदि आप एक ...