प्रिय पाठकों! हमारा उद्देश्य आपके लिए किसी भी पाठ्य को सरलतम रूप देकर प्रस्तुत करना है, हम इसको बेहतर बनाने पर कार्य कर रहे है, हम आपके धैर्य की प्रशंसा करते है| मुक्त ज्ञानकोष, वेब स्रोतों और उन सभी पाठ्य पुस्तकों का मैं धन्यवाद देना चाहता हूँ, जहाँ से जानकारी प्राप्त कर इस लेख को लिखने में सहायता हुई है | धन्यवाद!

Friday, June 26, 2020

फूलों में खुशबू होती है, लगते कितने प्यारे - phoolon mein khushaboo hotee hai, lagate kitane pyaare - - उषा यादव- Usha Yadav #www.poemgazalshayari.in ||Poem|Gazal|Shaayari|Hindi Kavita|Shayari|Love||

फूलों में खुशबू होती है,
लगते कितने प्यारे।
जी चाहे झोली में भर लूँ।
वे सारे के सारे।

अमरूदों की खुशबू का भी
ढम-ढम बजता बाजा।
अव्वल आकर आम बना है
किन्तु फलों का राजा।

चन्दन की भीनी –सी खुशबू
सचमुच बड़ी निराली।
मन करता मैं उसको घिसकर
भर लूँ पूरी प्याली।

मेरा नन्हा –मुन्ना भइया
मुझको बहुत दुलारा।
उसको सूँघूँ तो लगता है
खुशबू का फव्वारा।
पर जो खुशबू सबसे अनुपम
सारा जग महकाती।
वह नेकी की खुशबू, उसको
दुनिया शीश नवाती।

- उषा यादव- Usha Yadav

#www.poemgazalshayari.in

||Poem|Gazal|Shaayari|Hindi Kavita|Shayari|Love||

Please Subscribe to our youtube channel

https://www.youtube.com/channel/UCdwBibOoeD8E-QbZQnlwpng

No comments:

Post a Comment

इंटरनेट क्या है? इंटरनेट पर लॉगिन क्यों किया जाता है? वेबसाइट क्या है| थर्ड पार्टी एक्सेस क्या है? फेसबुक के थर्ड पार्टी ऐप को कैसे हटाए?

 इंटरनेट क्या है?  इंटरनेट पर लॉगिन क्यों किया जाता है?   वेबसाइट क्या है|  थर्ड पार्टी एक्सेस क्या है? फेसबुक के थर्ड पार्टी ऐप को कैसे हटा...