प्रिय पाठकों! हमारा उद्देश्य आपके लिए किसी भी पाठ्य को सरलतम रूप देकर प्रस्तुत करना है, हम इसको बेहतर बनाने पर कार्य कर रहे है, हम आपके धैर्य की प्रशंसा करते है| मुक्त ज्ञानकोष, वेब स्रोतों और उन सभी पाठ्य पुस्तकों का मैं धन्यवाद देना चाहता हूँ, जहाँ से जानकारी प्राप्त कर इस लेख को लिखने में सहायता हुई है | धन्यवाद!

Friday, June 26, 2020

हैं सफेद रेशम के गोले - hain saphed resham ke gole -- उषा यादव- Usha Yadav #www.poemgazalshayari.in ||Poem|Gazal|Shaayari|Hindi Kavita|Shayari|Love||

हैं सफेद रेशम के गोले।
कितने सुंदर,कितने भोले।
हरी घास है नरम बिछौना।
करते उस पर खाना -सोना।
आँखें चमक रही माणिक –सी।
पल पल नाक फड़कती कैसी।
     टुकर –टुकर बस ताका करते।
     सीधे इतने सबसे डरते।
गाजर –मुली के शौकीन।
सचमुच है कितने ये तीन।
उसके छोटे से टुकड़े पर।
तीनों संग चिपटते अक्सर।

कभी चौकड़ी भरते मनहर।
कभी कुदकते हरी घास पर।
भरा लबालब इनमे जोश।
ये है पिंटू के खरगोश।

- उषा यादव- Usha Yadav

#www.poemgazalshayari.in

||Poem|Gazal|Shaayari|Hindi Kavita|Shayari|Love||

Please Subscribe to our youtube channel

https://www.youtube.com/channel/UCdwBibOoeD8E-QbZQnlwpng

No comments:

Post a Comment

इंटरनेट क्या है? इंटरनेट पर लॉगिन क्यों किया जाता है? वेबसाइट क्या है| थर्ड पार्टी एक्सेस क्या है? फेसबुक के थर्ड पार्टी ऐप को कैसे हटाए?

 इंटरनेट क्या है?  इंटरनेट पर लॉगिन क्यों किया जाता है?   वेबसाइट क्या है|  थर्ड पार्टी एक्सेस क्या है? फेसबुक के थर्ड पार्टी ऐप को कैसे हटा...