प्रिय पाठकों! हमारा उद्देश्य आपके लिए किसी भी पाठ्य को सरलतम रूप देकर प्रस्तुत करना है, हम इसको बेहतर बनाने पर कार्य कर रहे है, हम आपके धैर्य की प्रशंसा करते है| मुक्त ज्ञानकोष, वेब स्रोतों और उन सभी पाठ्य पुस्तकों का मैं धन्यवाद देना चाहता हूँ, जहाँ से जानकारी प्राप्त कर इस लेख को लिखने में सहायता हुई है | धन्यवाद!

Saturday, July 13, 2019

सुला चुकी थी ये दुनिया थपक थपक के मुझे - sula chukee thee ye duniya thapak thapak ke mujhe - Dr. Rahat “ indauri” - डॉ० राहत “इन्दौरी”

सुला चुकी थी ये दुनिया थपक थपक के मुझे 
जगा दिया तेरी पाज़ेब ने खनक के मुझे 
 
कोई बताये के मैं इसका क्या इलाज करूँ 
परेशां करता है ये दिल धड़क धड़क के मुझे 
 
ताल्लुकात में कैसे दरार पड़ती है 
दिखा दिया किसी कमज़र्फ ने छलक के मुझे 
 
हमें खुद अपने सितारे तलाशने होंगे 
ये एक जुगनू ने समझा दिया चमक के मुझे 
 
बहुत सी नज़रें हमारी तरफ हैं महफ़िल में 
इशारा कर दिया उसने ज़रा सरक के मुझे 
 
मैं देर रात गए जब भी घर पहुँचता हूँ  
वो देखती है बहुत छान के फटक के मुझे 
Dr. Rahat “ indauri” - डॉ०  राहत “इन्दौरी”   

No comments:

Post a Comment

इंटरनेट क्या है? इंटरनेट पर लॉगिन क्यों किया जाता है? वेबसाइट क्या है| थर्ड पार्टी एक्सेस क्या है? फेसबुक के थर्ड पार्टी ऐप को कैसे हटाए?

 इंटरनेट क्या है?  इंटरनेट पर लॉगिन क्यों किया जाता है?   वेबसाइट क्या है|  थर्ड पार्टी एक्सेस क्या है? फेसबुक के थर्ड पार्टी ऐप को कैसे हटा...