प्रिय पाठकों! हमारा उद्देश्य आपके लिए किसी भी पाठ्य को सरलतम रूप देकर प्रस्तुत करना है, हम इसको बेहतर बनाने पर कार्य कर रहे है, हम आपके धैर्य की प्रशंसा करते है| मुक्त ज्ञानकोष, वेब स्रोतों और उन सभी पाठ्य पुस्तकों का मैं धन्यवाद देना चाहता हूँ, जहाँ से जानकारी प्राप्त कर इस लेख को लिखने में सहायता हुई है | धन्यवाद!

Saturday, July 13, 2019

जो मंसबो के पुजारी पहन के आते हैं - jo mansabo ke pujaaree pahan ke aate hain - Dr. Rahat “ indauri” - डॉ० राहत “इन्दौरी”

जो मंसबो के पुजारी पहन के आते हैं। 
कुलाह तौक से भारी पहन के आते है। 

अमीर शहर तेरे जैसी क़ीमती पोशाक  
मेरी गली में भिखारी पहन के आते हैं। 

यही अकीक़ थे शाहों के ताज की जीनत  
जो उँगलियों में मदारी पहन के आते हैं। 

इबादतों की हिफाज़त भी उनके जिम्मे हैं। 
जो मस्जिदों में सफारी पहन के आते हैं। 

Dr. Rahat “ Indauri” - डॉ०  राहत “इन्दौरी”   

No comments:

Post a Comment

Paypal पेमेंट क्या है ? Paypal पेमेंट कैसे होता है विस्तार से समझाएं | Paypal पेमेंट प्राप्त करने का कितना चार्ज होता है? Paypal पेमेंट की लिमिट कितनी है ?

  Paypal पेमेंट क्या है ? Paypal पेमेंट  कैसे होता है विस्तार से समझाएं | Paypal पेमेंट  प्राप्त करने का कितना चार्ज होता है? Paypal पेमेंट ...