प्रिय पाठकों! हमारा उद्देश्य आपके लिए किसी भी पाठ्य को सरलतम रूप देकर प्रस्तुत करना है, हम इसको बेहतर बनाने पर कार्य कर रहे है, हम आपके धैर्य की प्रशंसा करते है| मुक्त ज्ञानकोष, वेब स्रोतों और उन सभी पाठ्य पुस्तकों का मैं धन्यवाद देना चाहता हूँ, जहाँ से जानकारी प्राप्त कर इस लेख को लिखने में सहायता हुई है | धन्यवाद!

Saturday, July 13, 2019

बढ़ गयी है के घट गयी दुनिया - badh gayee hai ke ghat gayee duniya - Dr. Rahat “ Indauri” - डॉ० राहत “इन्दौरी”

बढ़ गयी है के घट गयी दुनिया 
मेरे नक़्शे से कट गयी दुनिया '

तितलियों में समा गया मंज़र 
मुट्ठियों में सिमट गयी दुनिया 

अपने रस्ते बनाये खुद मैंने 
मेरे रस्ते से हट गयी दुनिया 

एक नागन का ज़हर है मुझमे 
मुझको डस कर पलट गयी दुनिया 

कितने खानों में बंट गए हम तुम 
कितनी हिस्सों में बंट गयी दुनिया 

जब भी दुनिया को छोड़ना चाहा 
मुझसे आकर लिपट गयी दुनिया

Dr. Rahat “ Indauri” - डॉ०  राहत “इन्दौरी”   

No comments:

Post a Comment

इंटरनेट क्या है? इंटरनेट पर लॉगिन क्यों किया जाता है? वेबसाइट क्या है| थर्ड पार्टी एक्सेस क्या है? फेसबुक के थर्ड पार्टी ऐप को कैसे हटाए?

 इंटरनेट क्या है?  इंटरनेट पर लॉगिन क्यों किया जाता है?   वेबसाइट क्या है|  थर्ड पार्टी एक्सेस क्या है? फेसबुक के थर्ड पार्टी ऐप को कैसे हटा...