प्रिय पाठकों! हमारा उद्देश्य आपके लिए किसी भी पाठ्य को सरलतम रूप देकर प्रस्तुत करना है, हम इसको बेहतर बनाने पर कार्य कर रहे है, हम आपके धैर्य की प्रशंसा करते है| मुक्त ज्ञानकोष, वेब स्रोतों और उन सभी पाठ्य पुस्तकों का मैं धन्यवाद देना चाहता हूँ, जहाँ से जानकारी प्राप्त कर इस लेख को लिखने में सहायता हुई है | धन्यवाद!

Friday, June 26, 2020

माँ, तुम कल घर पर ही रहना - maan, tum kal ghar par hee rahana -- उषा यादव- Usha Yadav #www.poemgazalshayari.in ||Poem|Gazal|Shaayari|Hindi Kavita|Shayari|Love||

माँ, तुम कल घर पर ही रहना।
बहुत बूरा लगता है मम्मी,
मुझे तुम्हारा दफ्तर जाना।
घर पर लौटूँ और उस समय
दरवाजे पर ताला पाना।
जाने कितनी बातें उस पल
चाहा करती तुमसे कहना,
माँ, तुम कल घर पर ही रहना।

ढका हुआ खाना, खाली घर,
रोज यही तुम मुझको देतीं।
छुट्टी के दिन भी तो मम्मी,
ढेर काम तुम फैला लेतीं।
मैं न ऊबती, घर में होतीं,
यदि दादी माँ अथवा बहना।
माँ, तुम कल घर पर ही रहना।

गरम पकौड़े, मीठा हलवा,
मेवों वाले दहीबड़े हों।
तवा उतरती रोटी खातिर,
मैं पापा दोनों झगड़े हों।
सपना जैसा यह दिन लौटे,
मजा बहुत आएगा, है ना?
माँ, तुम कल घर पर ही रहना।

- उषा यादव- Usha Yadav

#www.poemgazalshayari.in

||Poem|Gazal|Shaayari|Hindi Kavita|Shayari|Love||

Please Subscribe to our youtube channel

https://www.youtube.com/channel/UCdwBibOoeD8E-QbZQnlwpng

No comments:

Post a Comment

इंटरनेट क्या है? इंटरनेट पर लॉगिन क्यों किया जाता है? वेबसाइट क्या है| थर्ड पार्टी एक्सेस क्या है? फेसबुक के थर्ड पार्टी ऐप को कैसे हटाए?

 इंटरनेट क्या है?  इंटरनेट पर लॉगिन क्यों किया जाता है?   वेबसाइट क्या है|  थर्ड पार्टी एक्सेस क्या है? फेसबुक के थर्ड पार्टी ऐप को कैसे हटा...