प्रिय दोस्तों! हमारा उद्देश्य आपके लिए किसी भी पाठ्य को सरलतम रूप देकर प्रस्तुत करना है, हम इसको बेहतर बनाने पर कार्य कर रहे है, हम आपके धैर्य की प्रशंसा करते है| मुक्त ज्ञानकोष, वेब स्रोतों और उन सभी पाठ्य पुस्तकों का मैं धन्यवाद देना चाहता हूँ, जहाँ से जानकारी प्राप्त कर इस लेख को लिखने में सहायता हुई है | धन्यवाद!

Monday, August 19, 2019

आज फिर से तुम बुझा दीपक जलाओ - aaj phir se tum bujha deepak jalao - - हरिवंशराय बच्चन - harivansharaay bachchan

आज फिर से तुम बुझा दीपक जलाओ ।


है कंहा वह आग जो मुझको जलाए,
है कंहा वह ज्वाल पास मेरे आए,


रागिनी, तुम आज दीपक राग गाओ;
आज फिर से तुम बुझा दीपक जलाओ ।


तुम नई आभा नहीं मुझमें भरोगी,
नव विभा में स्नान तुम भी तो करोगी,


आज तुम मुझको जगाकर जगमगाओ;
आज फिर से तुम बुझा दीपक जलाओ ।


मैं तपोमय ज्योती की, पर, प्यास मुझको,
है प्रणय की शक्ति पर विश्वास मुझको,


स्नेह की दो बूंदे भी तो तुम गिराओ;
आज फिर से तुम बुझा दीपक जलाओ ।


कल तिमिर को भेद मैं आगे बढूंगा,
कल प्रलय की आंधियों से मैं लडूंगा,


किन्तु आज मुझको आंचल से बचाओ;
आज फिर से तुम बुझा दीपक जलाओ ।

- हरिवंशराय बच्चन - harivansharaay bachchan

No comments:

Post a Comment

PF क्या है ? पीएफ में फॉर्म 31 क्या है? फार्म 19 क्या है? फार्म 10c क्या है?

Key Content: PF क्या है ?  पीएफ में फॉर्म 31 क्या है? फार्म 19 क्या है? फार्म 10c क्या है?  PF क्या है ईपीएफओ का पूरा नाम एम्पलाई प्रोविडेंट...