प्रिय पाठकों! हमारा उद्देश्य आपके लिए किसी भी पाठ्य को सरलतम रूप देकर प्रस्तुत करना है, हम इसको बेहतर बनाने पर कार्य कर रहे है, हम आपके धैर्य की प्रशंसा करते है| मुक्त ज्ञानकोष, वेब स्रोतों और उन सभी पाठ्य पुस्तकों का मैं धन्यवाद देना चाहता हूँ, जहाँ से जानकारी प्राप्त कर इस लेख को लिखने में सहायता हुई है | धन्यवाद!

Sunday, April 18, 2021

चाँदी जैसा रंग है तेरा सोने जैसे बाल | Chandi jaisa rang hai tera | poemgazalshayari

 चाँदी जैसा रंग है तेरा सोने जैसे बाल

इक तू ही धनवान है गोरी बाकी सब कंगाल


जिस रस्ते से तू गुजरे वो फूलों से भर जाये (२)

तेरे पैर की कोमल आहट सोते भाग जगाये

जो पत्थर तो छू ले गोरी वो हीरा बन जाये

तू जिसको मिल जाये वो

तू जिसको मिल जाये वो हो जाये मालामाल

इक तू ही धनवान है गोरी बाकी सब कंगाल


जो बेरंग हैं उसपे क्या क्या रंग जमाते लोग (२)

तू नादान न जाने कैसे रूप चुराते लोग

नज़रें जी जी भर के देखें आते जाते लोग

छैल छबीली रानी थोड़ा

छैल छबीली रानी थोड़ा घूँघट और निकाल

इक तू ही धनवान है गोरी बाकी सब कंगाल


घनक घटा कलियाँ और तारे सब हैं तेरा रूप (२)

गज़लें हों या गीत हों मेरे सब में तेरा रूप

यूँ ही चमकती रहे हमेशा तेरे हुस्न की धूप

तुझे नज़र ना लगे किसी की

तुझे नज़र ना लगे किसी की जिये हज़ारों साल

इक तू ही धनवान है गोरी बाकी सब कंगाल


चाँदी जैसा रंग है तेरा सोने जैसे बाल

इक तू ही धनवान है गोरी बाकी सब कंगाल

-----------------------------------------------------

गाना / Title: चाँदी जैसा रंग है तेरा सोने जैसे बाल 

चित्रपट / Film: गैर फिल्म-(Non-Film)

संगीतकार / Music Director:

गीतकार / Lyricist: Mumtaz Rashid

गायक / Singer(s): पंकज उधास-(Pankaj Udhas)

No comments:

Post a Comment

इंटरनेट क्या है? इंटरनेट पर लॉगिन क्यों किया जाता है? वेबसाइट क्या है| थर्ड पार्टी एक्सेस क्या है? फेसबुक के थर्ड पार्टी ऐप को कैसे हटाए?

 इंटरनेट क्या है?  इंटरनेट पर लॉगिन क्यों किया जाता है?   वेबसाइट क्या है|  थर्ड पार्टी एक्सेस क्या है? फेसबुक के थर्ड पार्टी ऐप को कैसे हटा...