प्रिय दोस्तों! हमारा उद्देश्य आपके लिए किसी भी पाठ्य को सरलतम रूप देकर प्रस्तुत करना है, हम इसको बेहतर बनाने पर कार्य कर रहे है, हम आपके धैर्य की प्रशंसा करते है| मुक्त ज्ञानकोष, वेब स्रोतों और उन सभी पाठ्य पुस्तकों का मैं धन्यवाद देना चाहता हूँ, जहाँ से जानकारी प्राप्त कर इस लेख को लिखने में सहायता हुई है | धन्यवाद!

Friday, December 25, 2020

सूर्यकांत त्रिपाठी 'निराला' | जीवन-परिचय | Suryakant Tripathi 'Nirala' Biography

 सूर्यकांत त्रिपाठी 'निराला' | जीवन-परिचय | Suryakant Tripathi 'Nirala' Biography



सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’ का जन्म 1896 में वसंत पंचमी के दिन हुआ था ऐसा मन जाता है । आपके जन्म की तिथि को लेकर बहुत मतभेद है । 

 आपकी  कहानी संग्रह ‘लिली’ के अनुसार आपकी  जन्मतिथि 21 फरवरी 1899 प्रकाशित है।

आपकी माता जी आपको तीन वर्ष की उम्र में ही आपसे जुदा हो गयी, और आपके पिता  का नाम पंडित रामसहाय तिवारी जो सिपाही की नौकरी करते थे वो भी २० वर्ष होने से पहले ही इस धरा से विदा ले लिए ।

आपकी  शिक्षा हाई स्कूल तक हुई। तदुपरांत हिन्दी, संस्कृत तथा बांग्ला का अध्ययन आपने स्वयं किया। 

पहले महायुद्ध के महामारी के बाद आपकी पत्नी मनोरमा देवी  और परिवार के कई सदस्यओ देहांत हो गया| 


इलाहाबाद जो अभी प्रयागराज नाम  से जाना जाता है  आपका विशेष लगाव  लम्बे समय तक बना रहा। 

इसी शहर के दारागंज मुहल्ले में अपने एक मित्र, 'रायसाहब' के घर के पीछे बने एक कमरे में 15 अक्टूबर 1971 को आपने  विदा ली।  


मुक्त ज्ञानकोष, वेब स्रोतों और उन सभी पाठ्य पुस्तकों का मैं धन्यवाद देना चाहता हूँ, जहाँ से जानकारी प्राप्त कर इस लेख को लिखने में सहायता हुई है |


हमारे इस पोस्ट को पढ़ने के लिए हम आपका आभार व्यक्त करते है | इस जानकारी को ज्यादा से ज्यादा Facebook, Whatsapp जैसे सोशल मिडिया पर जरूर शेयर करें | धन्यवाद  !!!


www.poemgazalshayari.in

No comments:

Post a Comment

चीनी वैज्ञानिकों ने स्मार्टफ़ोन पर सैटेलाइट कॉल कैसे संभव बनाया | Satellite Calling Project तियानटोंग China

चीनी वैज्ञानिकों ने स्मार्टफ़ोन पर सैटेलाइट कॉल कैसे संभव बनाया  | Satellite Calling Project China   चीनी वैज्ञानिकों ने स्मार्टफ़ोन पर सैटे...