प्रिय पाठकों! हमारा उद्देश्य आपके लिए किसी भी पाठ्य को सरलतम रूप देकर प्रस्तुत करना है, हम इसको बेहतर बनाने पर कार्य कर रहे है, हम आपके धैर्य की प्रशंसा करते है| मुक्त ज्ञानकोष, वेब स्रोतों और उन सभी पाठ्य पुस्तकों का मैं धन्यवाद देना चाहता हूँ, जहाँ से जानकारी प्राप्त कर इस लेख को लिखने में सहायता हुई है | धन्यवाद!

Friday, June 26, 2020

यह भी लोगे, वह भी लोगे - yah bhee loge, vah bhee loge -- उषा यादव- Usha Yadav #www.poemgazalshayari.in ||Poem|Gazal|Shaayari|Hindi Kavita|Shayari|Love||

यह भी लोगे, वह भी लोगे,
दुकाने तो सजी हुए हैं,
बोलो मुन्ने, क्या-क्या लोगे?

बिखरे रहते खेल-खिलौने,
भारी हुए रहती अलमारी।
मम्मी कब तक उन्हें समेटे
देखो, थक जाती बेचारी।
तुम ही बोलो नए खिलौने
लेकर के अब कहाँ धरोगे?

नए-नए कपड़ों को भी तो
भला कहाँ तक पहन सकोगे।
वे छोटे हो जाएँगे, तुम
जल्दी-जल्दी लंबे होंगे।
फैशन तो है रोज बदलता
क्या उसके पीछे दौड़ोगे?

जितनी ज्यादा चीजें लोगे
मन उतना ही ललचाएगा।
और-और के लालच में पड़
सुख-संतोष न मिल पाएगा।
गंदी आदत पड़ जाने से
परेशान तुम ही कल होंगे।

- उषा यादव- Usha Yadav

#www.poemgazalshayari.in

||Poem|Gazal|Shaayari|Hindi Kavita|Shayari|Love||

Please Subscribe to our youtube channel

https://www.youtube.com/channel/UCdwBibOoeD8E-QbZQnlwpng

No comments:

Post a Comment

इंटरनेट क्या है? इंटरनेट पर लॉगिन क्यों किया जाता है? वेबसाइट क्या है| थर्ड पार्टी एक्सेस क्या है? फेसबुक के थर्ड पार्टी ऐप को कैसे हटाए?

 इंटरनेट क्या है?  इंटरनेट पर लॉगिन क्यों किया जाता है?   वेबसाइट क्या है|  थर्ड पार्टी एक्सेस क्या है? फेसबुक के थर्ड पार्टी ऐप को कैसे हटा...