प्रिय पाठकों! हमारा उद्देश्य आपके लिए किसी भी पाठ्य को सरलतम रूप देकर प्रस्तुत करना है, हम इसको बेहतर बनाने पर कार्य कर रहे है, हम आपके धैर्य की प्रशंसा करते है| मुक्त ज्ञानकोष, वेब स्रोतों और उन सभी पाठ्य पुस्तकों का मैं धन्यवाद देना चाहता हूँ, जहाँ से जानकारी प्राप्त कर इस लेख को लिखने में सहायता हुई है | धन्यवाद!

Monday, June 22, 2020

सब तीर हैं मेरे लिए उसकी कमान में - sab teer hain mere lie usakee kamaan mein -- जयप्रकाश त्रिपाठी- Jayprakash Tripathi #www.poemgazalshayari.in ||Poem|Gazal|Shaayari|Hindi Kavita|Shayari|Love||

सब तीर हैं मेरे लिए उसकी कमान में।
कितना बड़ा गुमान है उसके बयान में।

नफ़रत-सी मुझसे हो गई है इस क़दर उसे,
जैसे कि ज़हर घुल गया हो जाफ़रान में।

उसकी ज़मीं पे भार था जैसे मेरा वजूद,
तो ख़ुद को मैंने फेंक दिया आसमान में।

हर लफ़्ज़ रंजो-गम के, सौ-सौ उलाहने
क्या-क्या भरा हुआ है उसकी बदज़ुबान में।

जब ज़िन्दगी को सौंप दिया रोशनी के हाथ
तो लहर उठी तड़प अन्धेरे की जान में।

- जयप्रकाश त्रिपाठी- Jayprakash Tripathi

#www.poemgazalshayari.in

||Poem|Gazal|Shaayari|Hindi Kavita|Shayari|Love||

No comments:

Post a Comment

इंटरनेट क्या है? इंटरनेट पर लॉगिन क्यों किया जाता है? वेबसाइट क्या है| थर्ड पार्टी एक्सेस क्या है? फेसबुक के थर्ड पार्टी ऐप को कैसे हटाए?

 इंटरनेट क्या है?  इंटरनेट पर लॉगिन क्यों किया जाता है?   वेबसाइट क्या है|  थर्ड पार्टी एक्सेस क्या है? फेसबुक के थर्ड पार्टी ऐप को कैसे हटा...