प्रिय दोस्तों! हमारा उद्देश्य आपके लिए किसी भी पाठ्य को सरलतम रूप देकर प्रस्तुत करना है, हम इसको बेहतर बनाने पर कार्य कर रहे है, हम आपके धैर्य की प्रशंसा करते है| मुक्त ज्ञानकोष, वेब स्रोतों और उन सभी पाठ्य पुस्तकों का मैं धन्यवाद देना चाहता हूँ, जहाँ से जानकारी प्राप्त कर इस लेख को लिखने में सहायता हुई है | धन्यवाद!

Friday, June 5, 2020

एक दीपक किरण–कण हूँ - ek deepak kiran–kan hoon -- रामकुमार वर्मा - Ram Kumar Verma #www.poemgazalshayari.in

एक दीपक किरण–कण हूँ।


धूम्र जिसके क्रोड़ में है¸ उस अनल का हाथ हूँ मैं

नव प्रभा लेकर चला हूँ¸ पर जलन के साथ हूँ मैं

सिद्धि पाकर भी¸ तुम्हारी साधना का —

ज्वलित क्षण हूँ।

एक दीपक किरण–कण हूँ।


व्योम के उर में¸ अपार भरा हुआ है जो अंधेरा

और जिसने विश्व को¸ दो बार क्या¸ सौ बार घेरा

उस तिमिर का नाश करने के लिए¸ —

मैं अटल प्रण हूँ।

एक दीपक किरण–कण हूँ।


शलभ को अमरत्व देकर¸ प्रेम पर मरना सिखाया

सूर्य का संदेश लेकर¸ रात्रि के उर में समाया

पर तुम्हारा स्नेह खोकर भी¸ —

तुम्हारी ही शरण हूँ।

एक दीपक किरण–कण हूँ।

- रामकुमार वर्मा - Ram Kumar Verma
#www.poemgazalshayari.in

No comments:

Post a Comment

विंडोज कंप्यूटर पर किसी वेबसाइट को ब्लाक करने का सबसे आसान तरीका

विंडोज कंप्यूटर पर किसी वेबसाइट को ब्लाक करने का सबसे आसान तरीका    अब आप अपने कंप्यूटर सिस्टम को इंटरनेट की दुनिया में और भी सुरक्षित बना स...