प्रिय पाठकों! हमारा उद्देश्य आपके लिए किसी भी पाठ्य को सरलतम रूप देकर प्रस्तुत करना है, हम इसको बेहतर बनाने पर कार्य कर रहे है, हम आपके धैर्य की प्रशंसा करते है| मुक्त ज्ञानकोष, वेब स्रोतों और उन सभी पाठ्य पुस्तकों का मैं धन्यवाद देना चाहता हूँ, जहाँ से जानकारी प्राप्त कर इस लेख को लिखने में सहायता हुई है | धन्यवाद!

Sunday, June 21, 2020

भागो-भागो रंग लिए महँगाई डायन आई है - bhaago-bhaago rang lie mahangaee daayan aaee hai -- जयप्रकाश त्रिपाठी- Jayprakash Tripathi #www.poemgazalshayari.in ||Poem|Gazal|Shaayari|Hindi Kavita|Shayari|Love||

भागो-भागो रंग लिए महँगाई डायन आई है....

बिना पिए त्योहार नशे में, भीखू अपरम्पार नशे में
फाँके से घर-बार नशे में, सबका कारोबार नशे में
जेब-जेब को तंग किए महँगाई डायन आई है।

नून-तेल-लकड़ी के मारे घूम रहे हम बने बेचारे
सौ-सौ मोटर-कार खड़ी हैं उनके अगवारे-पिछवारे
लगता जैसे जंग लिए महँगाई डायन आई है।

देखो जी, कैसे पिचकारी मार रहा बेशर्म तिवारी
देह दिखाए हड्डी-हड्डी, भूखे पेट न होय कबड्डी
भूँजी भाँग, भुजँग लिए महँगाई डायन आई है।

लूट मची है खुल्लमखुल्ला. बने चुनावी चोर-चिबिल्ला
कहीं भूख का हल्ला-गुल्ला, कोई काट रहा रसगुल्ला
घर-घर को बैरँग किए महँगाई डायन आई है।

डाल के सबके जड़ में मट्ठा, उधर खड़े सब हट्टा-कट्टा
गिफ़्ट लिए मंत्री का पट्ठा, ख़ुश अफ़सर के चट्टा-बट्टा
होली सँग दबँग लिए महँगाई डायन आई है।



- जयप्रकाश त्रिपाठी- Jayprakash Tripathi

#www.poemgazalshayari.in

||Poem|Gazal|Shaayari|Hindi Kavita|Shayari|Love||

No comments:

Post a Comment

इंटरनेट क्या है? इंटरनेट पर लॉगिन क्यों किया जाता है? वेबसाइट क्या है| थर्ड पार्टी एक्सेस क्या है? फेसबुक के थर्ड पार्टी ऐप को कैसे हटाए?

 इंटरनेट क्या है?  इंटरनेट पर लॉगिन क्यों किया जाता है?   वेबसाइट क्या है|  थर्ड पार्टी एक्सेस क्या है? फेसबुक के थर्ड पार्टी ऐप को कैसे हटा...